Saturday, 9 February 2013

Awaaz


Me with My Loving Husband












दिल की धड़कने बढ़ गयी,
जब सुनी तुम्हारी आवाज़ ,
ऐसा लग रहा था मनो,
बज रहा हो साज़,

गूंज रही है वो हँसी,
वो है अब भी पास,
गूंज रहे है वो शब्द,
जो थे मुझ पर कुछ ख़ास,

प्यार की आस बढ़ाइ तुमने,
हो गया एहसास ,
दिल अब तुमको भूल न पाता
हर धड़कन हर साँस